नीलामी की आस में बर्बाद हो रहा पुराने विद्यालय भवन की संपत्ति




भवनाथपुर: ओपी क्षेत्र के मध्य विद्यालय डूमरसोता का पुराना विद्यालय भवन की संपत्ति नीलामी की आस में बर्बाद हो रही है। विभाग और विद्यालय प्रशासन की लापरवाही के कारण यहां लाखों की संपत्ति का करीब 90 प्रतिशत हिस्सा बर्बाद हो गया। विद्यालय भवन के दीवार इतने जर्जर हो चुके है कि वह कभी भी ध्वस्त हो सकता है। गांव के बीच में होने के कारण छोटे-छोटे बच्चे भी उसमे घुस कर खेलते रहते है। जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। समय रहते यदि इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो बाद में किसी अनहोनी से इनकार नहीं किया जा सकता है। गौरतलब हो कि 1950 के दसक में राजकीय मध्य विद्यालय का खपरैल विद्यालय भवन का निर्माण हुआ था। वर्ष 1964 में एकीकृत बिहार सरकार ने विद्यालय को स्थापना की अनुमति प्रदान किया था। उक्त विद्यालय 20 नवंबर 2005 को नये भवन में शिफ्ट हो गया। तब से पुराने विद्यालय भवन की मरम्मती व देख रेख भी नहीं हुआ। इस तरह से 13 वर्ष बीत जाने के बाद भी विभाग को अपनी संपत्ति बचाने का ख्याल नहीं आया। विद्यालय की ओर से आज तक एक बार भी ना तो विद्यालय की संपत्ति बचाने की पहल की गई और न नीलामी की प्रक्रिया कराने का प्रयास किया गया। विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक सरदार राम ने बताया कि विभाग को मौखिक सूचना दी गई थी। इसके बाद मुझे कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है। इस संबंध में डीएसई अखिलेश चौधरी ने बताया कि इसकी जानकारी मुझे पत्रकारो के माध्यम से मिली है, मामले की जांच के बाद ही कुछ बता सकते है

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें