मध्य विद्यालय चित्तविश्राम में मनाई गई विवेकानंद जयंती


श्री बंशीधर नगर : प्रखंड अंतर्गत मध्य विद्यालय चित्तविश्राम के प्रांगण में शनिवार को स्वामी विवेकानंद की जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई। जयंती समारोह का शुभारंभ सेवानिवृत शिक्षक तेज प्रताप पांडेय, हाईस्कूल चित्तविश्राम के प्रधानाध्यापक अमित कुमार एवं मध्य विद्यालय के
प्रधानाध्यापक द्वारिका नाथ पांडेय ने संयुक्त रूप से विवेकानंद के चित्र पर मार्ल्यापण व दीप जलाकर किया। उस मौके पर तेज प्रताप पांडेय ने कहा कि स्वामी विवेकानंद के सपने ने विश्व धर्म सम्मेलन के माध्यम से भारत की
विद्ववता को पूरे विश्व में प्रतिस्थापित किया। बीससूत्री के उपाध्यक्ष अमरनाथ पांडेय ने कहा खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप है। यह रास्ता विवेकानंद ने भारतवासियों को दिखाया। नरही पंचायत की मुखिया संगीता श्रीवास्तव ने कहा कि जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करेंगे तब तक आपको सफलता नहीं मिलेगी यही स्वामी विवेकानंद के विचार थे। मुखिया मुश्ताक अहमद शेख ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि उठो जागो और लक्ष्य की
ओर तब तक चलो जब तक अपना लक्ष्य प्राप्त न हो जाय हमे इसे आत्मसात करने की जरूरत है। परिवर्तन दल के सदस्य अखिलेश प्रसाद ने बच्चों को भारतीय वेदांग योग और ध्यान जो स्वामी जी के मूल मंत्र थे। उन्हें अपने जीवन में अपनाकर आगे बढ़ने का रास्ता बताया। उन्होंने कहा कि डर ही वह चीज है जो हमें कमजोर बनाता है। पेंशनर समाज के अध्यक्ष गदाधर पांडेय ने कहा कि स्वामी विवेकानंद का सम्पूर्ण जीवन ही अपने आप मे अद्भुत है। कार्यक्रम की अध्यक्षता शिक्षक कमलेश पांडेय व धन्यवाद ज्ञापन विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारिकानाथ पांडेय ने किया। कार्यक्रम के अंत में बॉलीबॉल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें