सरस्वती विद्या मंदिर में मनाई गई विवेकानंद जयंती


श्री बंशीधर नगर : सरस्वती विद्या मंदिर शनिवार को स्वामी विवेकानंद जयंती समारोह पूर्वक मनाई गई। जयंती समारोह का शुभारंभ विद्यालय के प्रधानाचार्य कृष्णकांत दूबे ने भारत माता, ओम मां शारदे एवं स्वामी विवेकानंद के चित्र के समक्ष दीप जलाकर व पुष्प अर्पित कर किया। उस मौके पर प्रधानाचार्य कृष्णकांत दूबे ने स्वामी विवेकानंद के जीवनी पर प्रकाश डालते हुये कहा कि विवेकानंद युवाआें के प्रेरणा स्त्रोत थे। उनकी बातों से प्रेरणा लेकर युवा आगे बढ़ सकते हैं। उन्होंने कहा कि उत्तिष्ठत जाग्रत क्रांति बोधक के मूल मंत्र हमें आत्मसात करनी चाहिये। श्री दूबे ने कहा कि शिकागो धर्म सम्मेलन में समूह के मन को जीत लेने वाले स्वामी विवेकानंद विश्व में अपना परचम लहराये। उन्होंने विद्यालय के सभी भैया बहनों को विवेकानंद के पद्चिन्हों पर चलने की अपील की। कार्यक्रम में आचार्य सुभाष चंद्र झा, कौशलेंद्र झा, अविनाश कुमार, नंदलाल पांडेय, नीरज सिंह, सुधीर श्रीवास्तव, रामकिशुन साहू, आरती श्रीवास्तव, प्रियंका, नीति, तृप्ति, अंजली समेत सभी भैया बहन उपस्थित थे।

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें