बच्चा नही जननेे पर दिव्यांग महिला को मिली सजा ए मौत


गढ़वा: शादी के बाद महिलाआें के लिए बच्चा होना कितना आवश्यक है। इसी बात से अंदाजा लगाया जा सकता है। जब एक विकलांग महिला को शादी के पांच वर्ष बाद भी बच्चा नहीं हुआ, तो ससुराल पक्ष वालों ने उसे कथित जहर देकर मौत के घाट उतार दिया। मृतक महिला के मायके पक्ष के आरोप पर पति एवं ससुर को पुलिस गिरफ्तार कर थाना ले आई है। मामला सदर थाना क्षेत्र के अचला गांव का है। जहां उपेंद्र राम अपनी पत्नी अनिता देवी को घर वाले के साथ मिलकर जहर खिलाकर उसे मार डाला। घटना की जानकारी देते हुए अनिता देवी के दादा धनेश्वर राम ने बताया कि 2014 में अपनी नत्नी अनिता देवी जो पैर से विकलांग थी। उसकी शादी अचला निवासी उपेंद्र राम से धूमधाम से किए थे। उपेंद्र भी विकलांग है। शादी के बाद से ही ससुराल पक्ष वाले अनिता को ताना मारते थे। साथ ही उसे प्रताड़ित भी करते थे। हमेशा इसके उपर आरोप लगाते थे कि बच्चा पैदा नहीं कर पा रही है। शनिवार की सुबह उसे जहर देकर मार डाला। इसकी सूचना भी हम लोगों को नहीं दिया। फोन पर बताया कि अनिता का तबियत खराब है। उसे लेकर सदर अस्पताल में आए हैं। मृत्यु के दो तीन घंटे बाद बता रहे हैं कि वह जहर खाकर आत्महत्या कर ली है। जो कि सरासर गलत है। इसकी सूचना गढ़वा थाना को दी गई है। जहां से उपेंद्र एवं उसके पिता को पुलिस गिरफ्तार कर थाना ले आई है। इस संबंध में थाना प्रभारी अनिल कुमार सिंह ने बताया कि मामले की जानकारी मिली है। इसमें महिला के पति एवं ससुर को पुछताछ के लिए गढ़वा थाना में लाया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जो दोषी होंगे उन पर कड़ी कारवाई की जाएगी।

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें