बलरामपुर जिले के जिला सत्र न्यायाधीश ने सुखलदरी जलप्रपात का भ्रमण किया




धुरकी : झारखंड व छत्तीसगढ़ के गोद मे बसा कनहर नदी के सुखलदरी जल प्रपात को देखने रविवार को छत्तीसगढ़ के बलरामपुर जिले के जिला सत्र न्यायाधीश अशोक कुमार लुनिया एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी लीलाभर यादव सपरिवार पहुंच कर भ्रमण किया । भ्रमण के दौरान पहाड़ पर बने शिव मंदिर पूजा अर्चना किया।इनकी सुरक्षा व्यवस्था में धुरकी व सनावल थाने के पुलिस मुस्तैदी से लगी थी। भ्रमण करने के दौरान न्यायाधीशों ने बतलाया की झरने के विषय मे हमे जानकारी मिली थी तो हमे भी लगा की देखना चाहिए। उन्होंने कहा कि देखने से यहां लगता है की प्राकृतिक सुंदरता देखने लायक है प्रकृतिक के गोद मे बसा इस झरने को देखकर मै काफी खुश हूं यहां जो भी है नदी झरने आकर्षित करने वाले दोनो राज्य के हरे भरे वन पर्यावरण पत्थर की चट्टानों से निकले झरने से बन रही फव्वारे इन सभी चीजें मन मोहक हैं । न्यायाधीशों ने कहा कि देखने से लगता है कि यहां पर जो भी पर्यटक एक बार आ जाए तो वह बार बार आने के लिए कोशिश करेगा।यहां कि प्राकृतिक छटाए देखने लायक है। अगर सरकार इसे और विकसित कर दे तो जम्मू काश्मीर और शिमला की तरह यहां पर भी पर्यटकों को तांता लगा रहेगा । दोनो न्यायाधीशो ने स्थानीय मुखिया सुखबीर सिंह से जानकारी ली।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें