पलायन की भेंट चढ़ा कांडी का युवक


हरिहरपुर/कांडी: जिले के कांडी क्षेत्र में एक युवक को रोजगार के लिए दूसरे प्रदेशों में जाना बहुत महंगा पड़ा। बेरोजगारी की कीमत उसे मौत के रूप में चुकानी पड़ी। युवक मात्र 19 वर्ष का था। वह मझिगावां निवासी बुधू रजवार का पुत्र रमेश रजवार था। उसकी शादी छ: अप्रैल को होना सुनिश्चित हुआ था। उसके घर वाले उसकी शादी की व्यवस्था में लगे हुए थे। घर में काफी खुशी का माहौल था। गरीबी के कारण रमेश बहुत कम उम्र में ही बाहर कमाने चला गया था। ताकि उसके घर की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हो सके। लेकिन नियती को कुछ और ही पसंद था। बुधवार को उड़ीसा के संबलपुर में काम करने के दौरान रमेश रजवार की मौत हो गई। मौत की खबर सुनते ही घर वाले चीतकार मार मार कर रोने लगे। गांव के साथ-साथ आस-पास में भी मातम का माहौल है। सभी ग्रामीणों का एक ही सुर में कहना है कि क्षेत्र में रोजगार की व्यवस्था होती तो शायद इतनी बड़ी कुर्बानी नहीं देनी पड़ती। इस क्षेत्र के क ई युवा राजेगार की तलाश में बाहर जाते हैं। लेकिन उधर से आती है तो उनकी लाश। क्षेत्र में भय का माहौल पैदा हो गया है। लेकिन बेरोजगारी इस कदर हावी है कि लोग बाहर जाने के लिए मजबूर हैं।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें