खरौंधी में शिव चर्चा का आयोजन



  

खरौन्धी: प्रखंड के राजी निवासी बसंत लाल श्रीवास्तव के घर पर रविवार को प्रखंड स्तरीय चर्चा परिचर्चा का आयोजन किया गया । चर्चा परिचर्चा में खरौन्धी से आये विवेक कुमार रजक ने कहा देवो के देव भगवान शिव अनादि काल से गुरु है । भगवान शिव की महिमा सभी धर्म गर्न्थो में दरसाया गया है । उपनिषद पुराण के प्रथम पेज पर लिखा गया वाक्य “जगत गुरु नस्तुभयम शिवाय शिव दाय च, योगेंद्र नामः योगेंद्र नम गुरु नाम गुरुवे नमः” दर्शाता है कि शिव जगत के गुरु है । तुलसीदास दास जी ने शम्भवे गुरुवे नः से शिव को प्रणाम कर रामचरित मानस नामक रामायण लिखना प्रारम्भ किया था । ठीक इसी तरह जब जब देवो और दानवों पर विपति आया है । तब तब भगवान शिव ही उनके कष्टो को दूर करते हुये उनका उद्धार किया है । इस लिये आपलोग भी भगवान शिव को गुरु बनाते हुये साहब हरिंद्रा नंद द्वारा बताये तीन सूत्र का अक्षर सह पालन करें । अगर सच्ची श्रद्धा के साथ तीन सूत्र दया, चर्चा तथा नमन करते है तो भगवान शिव आपके सारे कष्टों को दुर करते हुये मानव रूपी शरीर से मुक्ति दिलायेंगे करेंगे । वरिष्ठ गुरु भाई बसंत लाल श्रीवास्तव ने चर्चा परिचर्चा में कहा अभी तक जो लोग भगवान शिव को गुरु नही बनाया है । वे लोग भगवान को गुरु बनाते हुये शिव की महिमा को जन जन तक पहुंचने काम करे । भगवान शिव की दया से ही आपके घर परिवार सहित आसपास के क्षेत्रों में खुशिया ही खुशिया रहेगी । इस अवसर पर पंचायत समिति सदस्य शम्भु उरांव, सुरेश विश्वकर्मा, रामजी पासवान, मटुकी मेहता, महेश्वर उरांव, श्यामदेव साव, कृष्णा साव, गनेशी प्रसाद गुप्ता, प्रमिला देवी, बबिता देवी, कुंता देवी, रिंकी देवी, शांति कुंवर, सरस्वती देवी, उर्मिला देवी सहित सैकड़ों शिव शिष्य उपस्थित थे ।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें