गायत्री महायज्ञ में उमड़ रही श्रद्धालुओं की भीड़



  

यज्ञोपवीत समेत कई संस्कार संपन्नरमना : अखिल विश्व गायत्री परिवार के तत्वावधान में रमना के मध्य विद्यालय सिलिदाग एक के चल रहे चार दिवसीय 24 कुंडीय शक्ति संवर्धन गायत्री महायज्ञ सह प्रज्ञा पुराण कथा के तीसरे दिन सोमवार को प्रातः सामुहिक गायत्री महामंत्र के जाप से माहौल भक्तिमय बना रहा। सैकड़ों श्रद्धालुओं ने यज्ञशाला की परिक्रमा करते हुए वैदिक मंत्रोच्चार से आहूति डाला। वही ध्यान, प्रज्ञायोग व व्यायाम के दीक्षा समारोह, यज्ञोपवीत संस्कार संपन्न कराया गया। जिसमें इक्यावन लोगों को दीक्षा व दो लोगों को यज्ञोपवीत संस्कार संपन्न कराया गया। वही संध्या वेला में विराट दीप महायज्ञ भी आयोजित किया गया।विश्व का कल्याण गायत्री महामंत्र से : सचिदानंद तिवारीमध्य विद्यालय सिलिदाग एक के मैदान मे चल रहे चार दिवसीय गायत्री महायज्ञ के दुसरे दिन रविवार के संध्या प्रवचन टोली नायक सचिदानंद तिवारी ने संगीतमय प्रवचन करते हुए कहा कि पुज्य गुरुदेव विश्व कल्याण के लिए गायत्री परिवार का गठन किया था। वेद माता गायत्री और उसके मंत्रो से ही समाज का कल्याण संभव है। उन्होंने कहा कि आज लोग विभिन्न व्यसनों से ग्रसित हो गए हैं। जिसे दुर करने की आवश्यकता है। गायत्री महामंत्र का नियमित वाचन से युग परिवर्तन संभव है। उन्होंने गायत्री मंत्र की व्याख्या करते हुए कहा कि विश्व में इससे बढ़ कर कोई दूसरा मंत्र नहीं है। गायत्री मंत्र एवं यज्ञ के वैज्ञानिक कारण पर भी प्रकाश डाला। मौके पर गायत्री परिवार के जिला समन्वयक विनोद पाठक, प्रखंड संयोजक उमेश प्रसाद गुप्ता, उमाशंकर यादव दिनेश गुप्ता, प्रभात कुमार, मुकेश कुमार, अशर्फी लाल चंद्रवंशी, रमेश रवानी, नंदू साह, दिलिप गुप्ता सहित बड़ी संख्या में महिला व पुरुष उपस्थित थे।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें