यदि गलत साबित हुआ तो दे दूंगा इस्तीफा- सत्येंद्र तिवारी


गढ़वा: झारखंड विधानसभा के बजट सत्र के दौरान गढ़वा विधायक श्री सत्येंद्र नाथ तिवारी ने विधानसभा में राज्य की प्रमुख सड़कों पर कलभट्ट, पुल, पुलिया का निर्माण सिविल इंजीनियरिंग मैनुअल के आधार पर नहीं करने का मामला उठाया।
विधायक ने कहा की इंजीनियर और संवेदक की अनदेखी की वजह से राज्य के कई सड़कों पर ब्रेकर की भूमिका में पुल-पुलिया एवं कलभट्ट का निर्माण किया गया है। जिससे राहगीरों को आवागमन के क्रम में दुर्घटना का शिकार होना पड़ता है। साथ ही संवेदक एवं इंजीनियर के द्वारा डायवर्शन के पैसे का बंदरबांट किया जा रहा है। जिससे प्रॉपर डायवर्सन नहीं बन पाता है। जिससे राज्य में हजारों बेगुनाह राहगीरों की जान चली गई है तथा मृतक के परिवारों को मुआवजा भी नहीं मिल पाता है। विधायक ने मनमाने ढंग से काम कर रहे कंस्ट्रक्शन कंपनियां एवं इंजीनियर पर जांच करा कर कार्रवाई करने की मांग किया है। उन्होंने एनएच 75 और शाहपुर-गढ़वा पथ का जिक्र करते हुए कहा की कंपनी द्वारा पुल-पुलिया और डायवर्सन बनाने के क्रम में सड़क पर गड्ढा खोदकर साल साल भर छोड़ दिया जाता है। जब काम शुरू होता है तो कंपनी मानक के विरुद्ध जाकर निर्माण कार्य करती है, जिससे सिर्फ गढ़वा जिला में सैकड़ों लोग काल के मुंह में समा गए हैं। विधायक ने कहा कि अगर मैं गलत कह रहा हूं तो सरकार जांच कराएं और मुझे गलत साबित करे। मैं अपने सदस्यता से इस्तीफा दे दूंगा। विधायक श्री तिवारी के आक्रोश को देखते हुए विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव ने हस्तक्षेप करते हुए सरकार को जांच करने को कहा। मामले को बढ़ता देख विभागीय मंत्री ने कहा गढ़वा विधायक उन सभी सड़कों की सूची विभाग को सौंपे जो मानक के विपरीत बना है। विभाग सभी सड़कों की उच्चस्तरीय जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करेगी। विधायक ने की सड़क निर्माण की मांग
गढ़वा विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी ने गढ़वा-रंका विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत ओबरा से बुढ़ी गम्हार होते हुए गोबरदाहा तक, एनएच 75 नारायणपुर से सेमरिया टोला-अंचला होते हुए तिवारी मरहटिया पक्की सड़क तक, प्रतापपुर मध्य विद्यालय से निमार्णाधीन पानी टंकी होते हुए गुरदी बस्ती तक एवं लखना बाजार से डुमरिया बीच बस्ती होते हुए मसूरिया अनुसूचित टोला तक अविलंब सड़क पक्की करण की मांग किया।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें