मंडल डैम डूब क्षेत्र संघर्ष समिति की बैठक, 19 को धरना प्रदर्शन का निर्णय



  

भंडरिया: क्षेत्र के कुटकू गांव में कुटकू मंडल डैम डूब क्षेत्र संघर्ष समिति की बैठक किया गया। बैठक में डूब प्रभावित लोगों की पुनर्वास एवं मुआवजा की मांग को लेकर 19 फरवरी को भंडरिया प्रखंड मुख्यालय में धरना प्रदर्शन करने का निर्णय लिया है। बैठक की अध्यक्षता कर रहे संघर्ष समिति के प्रमंडलीय अध्यक्ष प्रताप तिर्की ने कहा कि उनके द्वारा 31 दिसंबर 2018 को देश के प्रधानमंत्री, झारखंड के मुख्यमंत्री, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, एससी एसटी आयोग दिल्ली, झारखंड के मुख्य सचिव एवं प्रमंडल के आयुक्त को आवेदन देकर विस्थापित परिवारों का पुनर्वास एवं मुआवजा की मांग की गई थी। मांग पूरी होने के बाद ही डैम में काम करने का आग्रह किया गया था, परंतु अब तक किसी ने उनकी मांग का जवाब तक नहीं दिया है। उन्होंने कहा कि 1970 में मंडल डैम का शिलान्यास किया गया था। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस डैम के निर्माण का चुनावी रंग देने एवं सस्ती लोकप्रियता हासिल करने के लिए पुन: 5 जनवरी 2019 को दुबारा शिलान्यास किया है। उन्होंने कहा कि डैम की ऊंचाई कम कर दीजिए जाने के कारण 7 गांव डूब क्षेत्र में शामिल होगा। इनमें लातेहार के एक गांव और गढ़वा जिला का 6 गांव शामिल है। सात गांव के परिवारों को 15-15 लाख रुपए देकर गांव खाली कराने की बात कही गई थी, परंतु अब तक उन्हें पैसा नहीं मिला है। 9 गांव को डैम के डूब क्षेत्र से बाहर रखा गया है, परंतु इन सभी गांव के जमीन सरकार अपने नाम से कर चुकी है। इसका मालगुजारी रसीद भी नहीं कटता। खतियान में भी रैयतौ का नाम नहीं है। उन्होंने कहा कि 19 फरवरी को भंडरिया प्रखंड मुख्यालय में डूब क्षेत्र के 15 गांव के हजारों लोग की संख्या में धरना प्रदर्शन में शामिल होंगे। बैठक में कुटकू, भजना, चेमो, संया सहित कई गांवों के सैकड़ों लोग शामिल थे।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें