ईसाई धर्म अपना चुके सवा सौ लोगों ने सरना धर्म में की वापसी


पलामू : प्रमंडलीय मुख्यालय से करीब 25 किलोमीटर दूर रामगढ़ प्रखंड के बाघी में वनवासी कल्याण केन्द्र की ओर से आयोजित घर वापसी कार्यक्रम में ईसाई धर्म अपना चुके 28 घरों के 125 लोग पुन:अपने मूल धर्म (सरना धर्म) में वापस लौट गए। केन्द्र के जनजाति धर्म संस्कृति सुरक्षा मंच के तहत घर वापसी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ईसाई धर्म से पुन: धरना धर्म में बाघी, लरगहिया, चपलसी और उलडंडा के महिला-पुरूष और बच्चे शामिल हैं। इसमें एक घर उरांव, तीन घर खरवार और 24 घरों के भुईयां जाति के लोग शामिल हैं। ईसाई से सरना धर्म में वापस लौटने वालों को पैर पछालन किया गया। इसके पश्चात सभी लोगों को गंगा जल से शुद्धिकरण कर हवन कराया गया। उसके पश्चात सभी लोगों को तिलक और भगवान शिव का का लॉकेट पहनाया गया। भारत माता की जय और सरना माता की जय से कार्यक्रम स्थल गुंजयमान हो गया। रंका के राजा गुलाब सिंह, सुरक्षा मंच के प्रांतीय संयोजक, वनवासी कल्याण केन्द्र के क्षेत्रीय संगठन मंत्री महरंग उरांव, प्रांत संगठन मंत्री सत्येन्द्र सिंह,मेघा उरांव,भिखा उरांव, कैलाश उरांव, अमलेश्वर दुबे, शिवनारायण वैद्य, अश्विनी मिश्रा,भाजपा नेता, श्याम नारायण दुबे, विभाकर नारायण पांडेय, भाजपा नेता मनोज सिंह, आरएसएस के विभाग संघ चालक अजय जी आदि ने सरना धर्म में वापस लौटने वाले महिला-पुरूष और बच्चों को पैर धोया। हवन और पूजा पाठ पाहन उदेश्वर सिंह और नथू सिंह ने संपन्न कराया। सरना धर्म में वापस लौटने वाले लोगों को धोती, साड़ी और कपड़ा प्रदान किया गया।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें