प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत का मामला उजागर



  

श्री बंशीधर नगर : प्रखंड अंतर्गत उप स्वास्थ्य केन्द्र बरडीहा में गुरुवार को प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत होने का मामला प्रकाश में आया है। जच्चा-बच्चा की मौत होने के बाद उप स्वास्थ्य केंद्र की एएनएम व अस्पताल प्रबंधन पर सवाल खड़ा हो गया है। घटना के विषय में मृतक तैबुन बीबी के पति हकीम अंसारी ने बताया कि उनकी पत्नी तैबुन बीबी को प्रसव पीड़ा होने पर उसने उप स्वास्थ्य केन्द्र बरडीहा ले गया था। एएनएम सोना कुमारी के द्वारा पत्नी को दर्द का सुई लगाया गया था। प्रसव के दौरान शाम सात बजे मृत बच्ची का जन्म हुआ। हकीम ने बताया कि मृत बच्ची का जन्म लेने के बाद अचानक पत्नी को ब्लीड़िग होने लगा और उसकी हालत गंभीर होने लगी। एएनएम के द्वारा इंजेक्शन लगाया गया। उसके बाद भी उसकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ। कोई सुधार नहीं होने पर एएनएम ने तैबुन बीबी को अनुमंडलीय अस्पताल रेफर कर दिया गया। अनुमंडलीय अस्पताल लाने पर चिकित्सकों ने तत्काल उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। गढ़वा ले जाने के क्रम में उसकी मौत हो गई। हकीम अंसारी ने कहा कि उप स्वास्थ्य केन्द्र में तैबुन बीबी की हालत गंभीर होने पर अनुमंडलीय अस्पताल लाने के लियेकेन्द्र के द्वारा वाहन भी उपलब्ध नहीं कराया गया उसने किसी तरह से वाहन की व्यवस्था कर अस्पताल ले आये। जच्चा-बच्चा की मौत होने पर परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। उल्लेखनीय है कि गत् वर्ष कोलझिकी उप स्वास्थ्य केन्द्र में भोजपुर गांव की एक गर्भवती महिला की एवं कोलझिकी के एक जच्चा की मौत प्रसव के दौरान हो गई थी। उधर इस संबंध में पूछने पर जिले के सिविल सर्जन डा एनके रजक ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी मिली है। अनुमंडलीय अस्पताल के प्रभारी से रिपोर्ट मांगा गया है। रिपोर्ट मिलते ही मामले में न्याय संगत कार्रवाई की जायेगी।


 

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें