सांसद का प्रयास लाया रंग, 23 फरवरी को खुलेगी दशकों से बंद राजहरा कोलियरी



  

सांसद के प्रयास से रजहारा कोलियरी खोलने की मिली स्वीकृति, 23 को होगा विधिवत उदघाटन

पलामू : पलामू की लाइफ लाइन कही जाने वाली रजहारा कोलियरी के दिन अब बहुरने वाले हैं। कोलियरी का उदघाटन 23 फरवरी को विधिवत ढंग से किया होगा। इस आशय की जानकारी पलामू सांसद श्री विष्णु दयाल राम ने दी।
सांसद श्री राम इस मामले को अनेकों बार सदन में आवाज उठा चुके हैं। वे संबंधित विभाग एवं मंत्रालय के पदाधिकारियों से मिलकर खदान को पुनः खुलवाने के लिए सतत प्रयत्नशील भी रहे हैं। जिसका प्रतिफल आज इस बंद खदान को खोलने की स्वीकृति मिलने से प्राप्त हो गई है।
सांसद श्री राम ने यह बताया कि 149. 38 हेक्टेयर (368.97 एकड़) क्षेत्रफल में फैली यह कोलियरी 15 वर्ष के लिए प्रस्तावित था। लेकिन बाद में यह बंद हो चुका था। उन्होंने बताया कि वर्तमान में उक्त भूमि के अंदर 80 लाख टन कोयला विद्यमान है और खदान के खुलने से न्यूनतम 3 लाख से 5 लाख टन प्रतिवर्ष तक कोयला का उत्पादन किया जा सकेगा।
उन्होंने बताया कि इस खदान के खुलने से ना सिर्फ स्थानीय युवाओं को नौकरी मिलेगी, बल्कि यहां के मजदूर वर्ग के लोगों को भी रोजगार प्राप्त होगी। ढुलाई हेतु प्रयुक्त होने वाली अनेको वाहनों को कार्य में लिए जाने से परिवहन व्यवसाय से जुड़े लोगों को रोजगार मिलेगा।
श्री राम ने बताया कि उनके प्रयास से सभी कागजी प्रक्रियाएं पूरी कर लेने के बाद भी पर्यावरण द्वारा अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिलने के कारण अभी तक यह खदान बंद था। परंतु उनके निरंतर प्रयास के आज पर्यावरण अनापत्ति प्रमाण पत्र भी प्राप्त करवा लिया गया है।
इस खदान के खुलने से जहां राज्य सरकार को लगने वाले मृत उद्योग शुल्क चुकाने से राहत मिलेगी वहीं उसे रॉयल्टी भी प्राप्त होगी और साथ ही साथ इस क्षेत्र की आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करने में यह कोलियरी मील का पत्थर साबित होगा।


 

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें