यज्ञ के बाद क्षेत्र में सदभाव पैदा होना चाहिए : दिलीप नामधारी



  

मेदिनीनगर : प्रखंड के जमुने में हो रहे श्री लक्ष्मी नारायण महायज्ञ की पूर्णाहूति के अवसर पर जे0वी0एम0 के युवा नेता दिलीप सिंह नामधारी उपस्थित हुए तथा कहा कि शास्त्रों एवं पुराणों में यज्ञ की महिमा का पुरजोर बखान किया गया है। उन्होंने यह भी कहा कि पुराणों में ऐसे अनेकों प्रमाण मिलते हैं जब यज्ञ की आहूति से लोगों की इच्छाओं की पूर्ति हुई है। उन्होंने बताया कि पुरातन ग्रंथों के अनुसार खुद भगवान राम एवं उनके तीन अन्य भाई भी यज्ञ की आहूतियों की ही देन थे। जमुने में हुए यज्ञ की पूर्णता भी तब सिद्घ होगी जब इस गॉव और आसपास के लोग आपस में वैमनस्य छोड़कर एक-दूसरे के प्रति सदभावना रखेंगे। दिलीप जी ने आश्वासन दिया कि इस गॉव में होने वाले किसी भी सकारात्मक कार्य में वे यथायोग्य सहायता करेंगे। इस अवसर पर सैकड़ों की संख्या में पुरूष और महिलाएॅ उपस्थित थीं जिनमें प्रमुख थे सुधीर मिश्रा, विजय पाठक, अमर मिश्रा, मुनारिक राम, भागी साव, गोपाल साव, प्रभा शंकर ठाकुर, विष्णु महतो, राजनाथ राम, विमल साव, इत्यादि।


 

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें