कस्तुरबा की छात्राओं ने डीसी से की शिकायत कहा, सर नहीं मिलता है पठन-पाठन सामग्री, खाने के लिए दी जाती है जली रोटियां



  

डीसी ने एसडीओ व चैनपुर बीडीओ को दिया जांच कर रिपोर्ट सौंपने का निर्देश

मेदिनीनगर : कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालय चैनपुर की दो दर्जन से अधिक छात्राएं डीसी शांतनु कुमार अग्रहरि से कहा कि सर! स्कूल ओर से पठन-पाठन सामग्री नहीं दी जा रही है और खाने में जली हुई रोटियां परोसा जाता है। मंगलवार को छात्राएं स्कूल की व्यवस्था से नाराज होकर डीसी से शिकायत की। छात्राओं ने कहा कि सभी छात्राएं 12वीं की परीक्षार्थी हैं। इसी माह से परीक्षा भी शुरू है, परंतु पढ़ाई करने में काफी परेशानी हो रही है। किसी भी छात्रा को रफ कपी, शर्मा गेस, प्रायोगिक सामग्री नहीं दी गई है। इससे परीक्षा की तैयारी करने में काफी कठिनाई हो रही है। भोजन भी नियमित रूप से नहीं मिलता है। पीटी शिक्षक द्वारा कहा जाता है कि कुछ नहीं बोलना है,जो मिल रहा है,उसी से संतुष्ट रहो। वार्डेन के पास शिकायत करने जाती हैं तो वार्डेन अपना दरवाजा बंद कर लेती हैं। सुबह शाम में जली रोटियां परसो जाता है। वहीं दोपहर में चावल,दाल, सब्जी मिलता है। दाल की गुणवता भी काफी खराब है। दाल पानी की तरह मिलता है। छात्राओं ने डीसी से कहा कि जब स्कूल में कोई पुरूष शिक्षक को पढ़ाने की अनुमती नहीं है तो पीटी शिक्षक के पति वहां कैसे रह रहे हैं। डीसी ने छात्राओं की समस्याओं को गंभीरता से लेते हुए एसडीओ एनके गुप्ता और चैनपुर बीडीओ को संयुक्त रूप से जांच कर अविलंब रिपोर्ट सौंपने का निर्देश दिया। जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को सभी छात्राओं को सुकन्या योजना से जोड़ने का भी निर्देश दिया। 31 छात्राओं ने डीसी को इस संबां में लिखित आवेदन भी सौंपा।

दो दिनों में सौंपे जांच रिपोर्ट, होगी कार्रवाई: उपायुक्त

छात्राओं की शिकायत पर उपायुक्त डा़ शांतनु कुमार अग्रहरि ने कहा कि इस सिलसिले में सदर एसडीओ नंदकिशोर गुप्ता को दो दिनों के भीतर जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है। जांच में चैनपुर बीडीओ अल्का कुमारी को भी साथ में शामिल रखने को कहा गया है। जांच रिपोर्ट आते ही कार्रवाई होगी। बालिका शिक्षा में किसी तरह लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।

सुविधानुसार दी जा रही सेवाएं: वार्डन

छात्राओं के स्कूल छोड़कर उपायुक्त से शिकायत करने पहुंच जाने की सूचना मिलने पर वार्डन भी समाहरणालय पहुंची। उन्होंने कहा कि सुविधानुसार सारी सुविााएं छात्राओं को दी जा रही हैं। परीक्षा तैयारी के लिए गैस पेपर अबतक स्कूल नहीं पहुंच पाया है। इस कारण उसका वितरण नहीं हो पाया है। नियमित और भरपेट भोजन नहीं मिलने की शिकायत पूरी तरह गलत है।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें