चुनाव तक सिर्फ और सिर्फ सोल्यूशन की बात करें : डीसी




मेदिनीनगर : पलामू में लोकसभा के चुनाव को लेकर गंभीर मुद्रा में दिख रहे पलामू डीसी डा शांतनु कुमार अग्रहरि ने जिले के पदाधिकारियों के साथ किए एक बैठक में अधीनस्थ पदाधिकारियों को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अगर मिटिंग में प्रॉब्लम लेकर आओगे तो प्रॉब्लम में पड़ जाओगे। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव संपन्न होने तक उन्हें कोई प्रॉब्लम नहीं चाहिए। वे सिर्फ और सिर्फ सोल्यूशन की बात करेंगे और सोल्यूशन की ही बात सुनेंगे भी। डीसी डा अग्रहरि ने पदाधिकारियों के खिलाफ अपना यह रौद्र रूप तब दिखलाया जब बैठक में मौजूद कई पदाधिकारियों से उन्होंने चुनाव संबंधी टास्क की तहकीकात करनी शुरू की तो पदाधिकारी टास्क पूरा करके नहीं आये थे। जब उनसे संबंधित विषयक पर पूछा गया तो अधिकांश पदाधिकारी प्रोपर जवाब नहीं दे सके तो डीसी का गुस्सा चरम सीमा तक पहुंच गया और बैठक में उपस्थित आधा से अधिक दर्जन भर पदाधिकारियें की कलास लेते हुए डीसी ने कहा कि वे जब भी बैठक में भाग लेने आये पूरी तैयारी के साथ आये, पढ़कर आये, चुनाव के बारे में जानकारी हासिल कर के आये। डीसी ने पदाधिकारियों को कहा कि चुनाव के दौरान किसी भी पदाधिकारियों की एक मामूली गलती भी छमा की श्रेणी में गिनती नहीं की जायेगी। वे पलामू में बेहतर व शांतिपूर्ण चुनाव के लिए कटिबद्ध है। निष्पक्ष चुनाव उनका मकसद है। इस बैठक में सदर एसडीओ समेत जिले के लगभग सभी विभागों के पदाधिकारी उपस्थित थे। ज्ञातब्य हो कि चुनाव तिथि के ऐलान से लगभग तीन माह पहले से यहां पर उपायुक्त डा अग्रहरि के नेतृत्व में चुनावी तैयारी चल रहा है। माना जा रहा है कि चुनाव को लेकर लगभग सभी तरह की जिले में प्रशिक्षण संपन्न हो चुके है, तो कही प्रशिक्षण आखिरी दौर पर चल रहा है। जिला प्रशासन द्वारा लोकसभा चुनाव को लेकर एक अलग ब्लू प्रिंट तैयार किया गया है और उसी आधार पर काम भी किया जा रहा है। प्रशासन द्वारा वाहन कोषांग से लेकर लगभग चुनाव में उपयोग होने वाले सभी तरह का कोषांगों का गठन कर लिया गया है।

डीसी का फरमान
चुनाव ड्यूटी से भागने वाले पर लॉज होगा एफआईआर
मेदिनीनगर : पलामू डीसी डा. शांतनु कुमार अग्रहरि ने सख्त शब्दों में कहा है कि चुनाव ड्यूटी में नामित मतदानकर्मी अगर किसी भी स्थिति में भागने की कोशिश करेंगे तो उनका नपना तय है। डीसी ने कहा कि चुनाव एक राष्ट्रीय पर्व है और इसमें पूरी वफादारी और ईमानदारी से मतदानकर्मियों को मतदान कार्य कराने की ड्यूटी का निर्वहन करना चाहिए। जिन लोगों को मतदान में ड्यूटी के लिए नामित किया गया है उन्हें हर हाल में ड्यूटी पर तैनात रहना पड़ेगा अन्यथा प्रशासन चुनाव ड्यूटी से कन्नी कटाने वाले मतदानकर्मियों पर कठोर कानूनी कार्रवाई करते हुए उनलोगों पर संबंधित थाने में एफआईआर दर्ज कराया जायेगा। डीसी ने कहा कि जिस भी कर्मी को ड्यूटी पर तैनात किया गया है, वे ससमय अपने ड्यूटी स्थल पर योगदान करके रिपोटिंग करें। उन्होंने कहा कि इस बाबत जिले के उपनिर्वाचन पदाधिकारी को भी निर्देश दिया गया है कि ड्यूटी के लिए तैयार सूची के अनुसार मतदानकर्मियों के चुनाव ड्यूटी के स्थल पर योगदान करने की तिथि और समय के साथ-साथ उनके चुनावी ड्यूटी के मुवमेंट पर कड़ी निगरानी रखे और उसकी एक समीक्षात्मक व्यौरा तैयार करे ताकि यह समीक्षा की जा सके की कौन मतदानकर्मी चुनाव ड्यूटी पर तैनात है और कौन ड्यूटी से गायब है। डीसी ने कहा कि चुनाव ड्यूटी से रफुचक्कर होने वाले मतदानकर्मियों को किसी भी कीमत पर क्षमा नहीं दी जायेगी। बल्कि भगौड़े मतदानकर्मियों के विरूद्ध सीधे थाना में एफआईआर दर्ज कराई जायेगी। डीसी के इस फतवे के बाद चुनाव ड्यूटी से ना-नूकूर करने वाले मतदानकर्मियों की हालत पतली दिख रही है और वैसे कई मतदानकर्मियों की हवा निकल गई है जो अन्यान कारणों को बताकर चुनाव ड्यूटी से राहत पाने के लिए उपायुक्त को पत्र तक लिख चुके थे।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें