मेराल में धूमधाम से मनाई गई सद्गुरु धर्मचंद देव जी महाराज की शताब्दी जयंती




सद्गुरु केवल जीवन जीने की ही कला नहीं बल्कि मरने की भी कला बताते हैं – उपेंद्र नाथ मिश्रा

बलराम शर्मा

मेराल: विहंगम योग संत समाज द्वारा शुक्रवार को प्रथम परंपरा सद्गुरु धर्मचंद्र देव जी महाराज की शताब्दी जयंती महोत्सव धूमधाम से मनाई गई। मेराल प्रखंड मुख्यालय के प्रसिद्ध प्राचीन शिव मंदिर के पास टाउन हॉल में आयोजित शताब्दी जन्म जयंती महोत्सव में बड़ी संख्या में महिला, पुरुष एवं बच्चे शामिल हुए। महोत्सव की शुरुआत प्रदेश प्रभारी उपेंद्र नाथ मिश्र, सरजू प्रसाद अग्रवाल, विजय मिश्र, वासुदेव शर्मा, परशुराम विश्वकर्मा, वैद्यनाथ यादव आदि लोगों द्वारा संयुक्त रूप से श्री सद्गुरु की तस्वीर पर माल्यार्पण, पुष्पांजलि तथा दीप प्रज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर प्रदेश प्रभारी उपेंद्र नाथ मिश्रा ने प्रथम परंपरा सद्गुरु धर्मचंद देव जी महाराज की जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि सद्गुरु केवल जीने की ही कला नहीं बल्कि मरने की भी कला बताते हैं। उन्होंने जीवन में सद्गुरु के महत्व पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला। इस अवसर पर सरजू प्रसाद अग्रवाल, विजय मिश्र, वासुदेव शर्मा आदि लोगों ने सद्गुरु धर्मचंद्र देव जी महाराज के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनका संपूर्ण जीवन जीव के कल्याण के लिए समर्पित था। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित पूर्व जिप सदस्य व भाजपा के जिला उपाध्यक्ष संजय भगत ने कहा कि व्यक्ति के जीवन में सद्गुरु का स्थान सर्वोपरि है। सद्गुरु जीवन जीने की कला के साथ-साथ जन्म मरण के बंधन से भी मुक्ति दिलाने की कला बताते हैं। जयंती समारोह के अवसर पर गुरु भाई, गुरु बहनों ने एक से बढ़कर एक सोहर, भजन आदि की प्रस्तुति कर उपस्थित लोगों को भाव विभोर कर दिया। कार्यक्रम में सद्गुरु सदाफल देव जी महाराज द्वारा रचित आध्यात्मिक होली की प्रस्तुत से लोग आनंदित हो गए। कार्यक्रम को सफल बनाने में मुख्य रूप से तुलसी राम, सीताराम भगत, विरझन राम, रामजी ठाकुर, रमेश मेहता, लक्ष्मी मेहता, शालिग्राम प्रसाद, रामेश्वर शर्मा, अरविंद प्रसाद, विद्या ठाकुर, मोतीचंद प्रसाद, तारकेश्वर नाथ त्रिपाठी, शांति देवी, पार्वती देवी, रामेति देवी, सावित्री देवी, पान पति देवी, भरत प्रसाद साहू आदि ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में महिला पुरुष एवं बच्चे भाग लिए।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें