रमना मे प्रसूता की मौत, संस्थागत प्रसव की खुली पोल




रमना: सरकार मातृ शिशु मृत्यु दर पर अंकुश लगाने के लिए पानी की तरह पैसा बहा रही है उसके बावजूद भी प्रसूता की मौत थमने का नाम नहीं ले रहा है। थाना क्षेत्र के रमना बियार टोला निवासी बिनोद बियार की 35 वर्षीया पत्नी सरिता देवी की मौत प्रसव के कुछ घंटे बाद हो गयी है। प्रसूता के मौत ने संस्थागत प्रसव पर सवालिया निशान खड़ा कर दिया है। जानकारी के अनुसार सरिता ने गुरुवार की रात लगभग आठ बजे जतपुरा उपस्वास्थ्य केंद्र में बच्चे को जन्म दिया था। कुछ घंटे बाद ही शुक्रवार की अहले सुबह अचानक उसकी तबियत खराब हो गयी। इसके बाद उसे रमना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था। जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए गढ़वा रेफर कर दिया था। इसी बीच गढ़वा जाने के दौरान रास्ते मे ही उसकी मौत हो गई। मृतका के चार छोटे-छोटे बच्चे हैं।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें