सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र में सीआरपीएफ ने लगाया चिकित्सा शिविर




बड़गढ़: छत्तीसगढ़ के समीप गढ़वा जिला अंतर्गत अति सुदूरवर्ती एवं उग्रवाद प्रभावित क्षेत्र बरगढ़ प्रखंड के कुल्ही गांव में सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत सीआरपीएफ ने नि:शुल्क चिकित्सा शिविर लगाया। शिविर का शुभारम्भ सीआरपीएफ 172 बटालियन कमांडेंट एसएन मिश्रा, डिप्टी कमांडेंट संतोष सहगल एवं चिकित्सा पदाधिकारी डॉ कुलदेव चौधरी ने संयुक्त रूप से मच्छरदानी वितरण कर किया। कमांडेंट सत्येन्द्र नाथ मिश्रा ने कहा कि सुदूरवर्ती क्षेत्र में चिकित्सा शिविर लगाने से गरीबों को फायदा मिलता है। यह क्षेत्र काफी पिछड़ा है और जंगलों से घिरे होने के कारण कई बीमारियां होने की संभावना होती है। इसलिए मलेरिया जैसी घातक बीमारी को देखते हुए लोगों के बीच मच्छरदानी वितरण किया गया है। हमारा प्रयास है कि जल्द से जल्द उग्रवाद मुक्त क्षेत्र हो और भटके हुए ग्रामीण मुख्यधारा में लौटे। वहीं चिकित्सा पदाधिकारी डॉ कुलदेव चौधरी ने कहा कि सीआरपीएफ की ओर से अतिसंवेदनशील और अतिसुदुर्वर्ती क्षेत्र में शिविर लगाना अच्छी पहल है। इसी बहाने मुझे भी मानव सेवा करने का अवसर मिलता है। सीआरपीएफ के माध्यम से मैनें भंडरिया और बरगढ़ प्रखंड अंतर्गत जंगल से घिरे कई गांव में जाकर अपना फर्ज निभाया है। शिविर में कुली, हेसातू, बहेराटोली गांव के लगभग 230 मरीजों को नि:शुल्क जांच कर दवा वितरण किया गया। ज्यादातर मरीज सर्दी-खांसी, बुखार, चर्मरोग, पेट दर्द, सायटिका, गठिया, कमर दर्द, कान दर्द तथा न्यूमोनिया से ग्रसित पाए गए। मौके पर इंस्पेक्टर शिवराम मीणा, फार्मासिस्ट अमित कुमार, श्यामन बहादुर साव, देवेन्द्र सिंह आदि उपस्थित थे।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें