मुख्यमंत्री के खिलाफ अपमान जनक वक्तव्य मामले में पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी को मिला बेल




मेदिनीनगर : झारखंड के सीएम रघुवर दास के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पनी के एक मामले में आज आत्म समर्पण के बाद मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी की अदालत में पूर्व मंत्री केएन त्रिपाठी को जमानत दे दी है। जानकारी के अनुसार पूर्व मंत्री श्री त्रिपाठी के खिलाफ शहर थाना में सुआ गांव निवासी विजयानन्द पाठक ने एफआईआर कराया था। यह मामला शहर थाना कांड संख्या 436/2017 दर्ज हुआ था। घटना 23 दिसम्बर 2017 की है। पूर्व मंत्री श्री त्रिपाठी के खिलाफ भादवि की धारा 500, 504 एवं 505 के तहत मामला दर्ज किया गया था। श्री पाठक ने पूर्व मंत्री श्री त्रिपाठी पर मुख्यमंत्री रघुवर दास को अपमानित करने के लिए तथ्य से परे वक्तव्य इलेक्ट्रोनिक मीडिया एवं फेसबुक पर चलाने का आरोप लगाया था। आरोप था कि विभिन्न समाचारों के माध्यम से श्री त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को नशेड़ी बताते हुए उन पर नशे में धुत रहने का आरोप लगाया था। श्री पाठक ने कहा था कि मुख्यमंत्री के खिलाफ उक्त वक्तव्य को देख व सुनकर वे हतप्रभ रह गए। उन्होंने खुद को अपमानित महसूस किया। श्री पाठक ने आरोप लगाया था कि पूर्व मंत्री श्री त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री को अपमानित करने व चरित्र हनन के लिए वक्तव्य दिया था। गौरतलब हो कि इस मामले में श्री त्रिपाठी ने जिला जज चतुर्थ की अदालत में अग्रिम जमानत की याचिका दाखिल की थी। जिसमें 13 मार्च को न्यायालय द्वारा 10 हजार के दो मुचलकों पर अग्रिम जमानत प्रदान की गई थी। इस मामले में आज पूर्व मंत्री श्री त्रिपाठी ने मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी पलामू की अदालत में आत्मसमर्पण कर बेल बॉन्ड दाखिल किया था। जिसके बाद उन्हें अदालत द्वारा जमानत दी गई।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें