धुरकी में झोलाछाप चिकित्सक के गलत ईलाज ने ली 6 माह के बच्चे की जान




गढ़वा : रंका थाना क्षेत्र के तेतरडगांव निवासी विनय भुइयां के 6 माह के पुत्र अमित कुमार भुइयां की मौत शनिवार की सुबह एक झोला छाप चिकित्सक के गलत इलाज के कारण हो गई। घटना के संबंध में विनय भुइयां के ससुर धुरकी थाना क्षेत्र के मिर्चइया गांव निवासी केवलधारी भुइयां ने बताया कि उसकी बेटी संध्या देवी 2 माह पूर्व उसके यहां बच्चे के साथ आई थी। इसी दौरान उसकी तबीयत खराब हो गया। गांव के ही पारा शिक्षक सह झोलाछाप चिकित्सक बंसी रजक से ईलाज करा रहा था। चिकित्सक के द्वारा दवा दिया गया। शुक्रवार की शाम को बच्चे के सो जाने के कारण दवा नहीं खिलाया गया जब सुबह होने पर उस दवा को बच्चे को दिया गया तो बच्चा अचानक तड़पने लगा। बच्चे को दूसरे चिकित्सक के यहां ले जाया जा रहा था इसी दौरान उस बच्चे की मौत रास्ते में हो गई। केवलधारी भुइयां ने धुरकी थाना में झोलाछाप चिकित्सक मुंशी रजक के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। उधर पुलिस बच्चे के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये गढ़वा भेज दिया है। इस संबंध में थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार ने बताया कि मामले की अभी छानबीन चल रही है दोषी चिकित्सक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें