पलामू से प्रत्याशी देने को बेकरार जदयू, बैजनाथ राम गोपी को प्रत्याशी बनाने पर पार्टी में चल रही चर्चा




जदयू ने भाजपा पर लगाया विकास में असफल रहने का आरोप

मेदिनीनगर : जिले के जदयू नेताओं ने आसन्न लोकसभा चुनाव में पलामू संसदीय क्षेत्र से बैजनाथ राम गोपी को पार्टी उम्मीदवार बनाने का आग्रह पार्टी के झारखण्ड प्रदेश प्रभारी रामसेवक सिंह से किया है। नेताओं ने जिला जदयू की भावनाओं से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अवगत कराने की अपील की है। इस बावत आज शहर के स्वागत होटल में पत्रकारों से मुखातिब हुए जदयू नेताओं ने कहा कि पार्टी के प्रदेश प्रभारी श्री सिंह द्वारा झारखण्ड में लोकसभा चुनाव 7 से 8 सीटों पर लड़े जाने की घोषणा से पार्टी के कार्यकर्ताओं की भावना को राहत मिली है। पिछले दिनों नगर निगम एवं कॉरपोरेशन के हुए चुनाव में दल की चुप्पी कार्यकर्ताओं को खतरनाक लगने लगी थी। जदयू नेताओं ने कहा कि अवकाश के बाद प्रशासनिक अधिकारियों में सांसद-विधायक बनने की लालसा बढ़ने लगी है। उन्हें पलामू प्रमण्डल के गरीबों के विकास की कोई चिंता नहीं है और न ही उनके पास इसकी कोई सोच है। चुनावी बिगुल बजते सभी नामचीन राजनीतिक दल अवकाश प्राप्त अधिकारियों की दावेदारी पर विचार करने लगे हैं। भाजपा से पलामू के लिए पूर्व आईएएस अधिकारी राजबाला वर्मा तो कांग्रेस में पूर्व आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार के नामों पर चर्चा शुरू हो गयी है। नेताओं ने कहा कि पलामू के सांसद बीडी राम जो पूर्व आईपीएस अधिकारी होने के साथ झारखण्ड के डीजीपी भी रह चुके हैं उनसे जनता का सीधे संवाद नहीं हो पाता। इनसे संपर्क करने के लिए बिचौलियों का सहारा लेना पड़ता था। इनके कार्यकाल में सांसद मद की योजनाओं में लूट मची रही। जनता की दुख-दर्द से इनका कोई सारोकार ही नहीं रहा। जनप्रतिनिधि होने के बाद भी वे अधिकारी की रौब नहीं छोड़ पायें। जनता को छोड़ भी दें तो अपने ही पार्टी के समर्पित कार्यकर्ताओं को भी कभी तर्जी नहीं दिया। जदयू नेताओं ने कहा कि इस चुनाव में पलामू से पार्टी अपना प्रत्याशी देना चाहती है। प्रत्याशी भी ऐसा होगा जो पलामू संसदीय क्षेत्र की जनता के दुख-दर्द में हमेशा साथ रहेगा। जन समस्याओं को संसद में उठाकर समाधान कराने का काम करेगा। जदयू का प्रत्याशी पलामू की आवाज बनेगा। नेताओं ने कहा कि वर्तमान राजनीति गठबंधन के संक्रमण काल से गुजर रही है। पलामू में 70 सालों में कोई बड़ा कल-कारखाना नहीं लग पाया। शिक्षित नवजवान बेरोजगार हैं। सोकरा ग्रेफाईट माईंस 20 सालों से बंद है। 15 वर्ष बाद एक माह पूर्व रजहारा कोलियरी का खुलना जनता के साथ महज एक छलावा है। शिक्षा की हालत भी दयनीय हो गयी है मगर इससे जनप्रतिनिधों को कोई मतलब नहीं है। बिजली, पानी और सड़क की समस्या भी यथावत है। अकाल व सूखाड़ से निपटने के कोई कारगर उपाय नहीं किये गए हैं। मौके पर पार्टी के जिलाध्यक्ष डॉ. राजनारायण सिंह पटेल, बलराम तिवारी, पंकज किशोर, अशोक निगम, संतोष कुमार तिवारी एवं मणीकांत कुमार आदि उपस्थित थे।

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें