बिजली की कटौती से उपभोक्ता परेशान, गर्मी में जीना हुआ मुहाल



  

महेंद्र गुप्ता

रमना : गर्मी की दस्तक के साथ ही बिजली कटौती ने भी लोगों को रुलाना शुरू कर दिया है। स्थिति यह है कि प्रखंड मुख्यालय सहित आस के ग्रामीण इलाकों में महज कुछ घंटा ही बिजली की आपूर्ति हो पा रही हैं, जिसके कारण लोगों का जीना मुहाल हो रहा है। जबकि इन दिनों आसमान से आग बरस रहा है पारा 42 पार हो चुका है इसके बावजूद प्रशासन और बिजली विभाग गंभीर नही है। रात में तो कई-कई घंटे बत्ती गुल रहती है। इस समय तकरीबन आठ-दस घंटे रोजाना की कटौती की जा रही है। उस पर कहीं फॉल्ट हो गया, फिर बिजली कब आएगी कोई नहीं बता पाता है। बिजली कटौती से लोगों को पानी का संकट भी झेलना पड़ रहा है। लोगों को पूरी दोपहर व रात बिना बिजली के ही बिताना पड़ रहा है। वहीं दुकान पर बैठे व्यापारी भी पसीने से तरबतर रहते है। व्यवसायी उमेश प्रसाद का कहना है कि बिजली नहीं रहने से पंखा, कुलर सभी बेकार हो गए हैं। उपर से विभाग का दबाव हर महीने बिल जमा करने का दबाव। रवीन्द्र कुमार का कहना है कि रात 12 बजे बिजली जाने के बाद नींद टूट जाती है। रात दो-ढाई बजे बिजली आती है और सोते-सोते साढ़े तीन बज जाते है। युवक दीपक का कहना है कि बिजली आपूर्ति की प्रखंड मे बदतर स्थिति हो गई है। प्रशासन को अविलंब पहल करनी चाहिये। जबकि किसान रामजी मेहता, जोधन मिस्त्री, परशु मेहता समेत कई लोगों का कहना है कि बिजली आपूर्ति मे सुधार नही हुआ तो लोग आंदोलन को विवश होगें।


 

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें