लमारी कला के डीलर ने प्रखंड में की नई पहल, पीडीएस लाभुकों को बिना कटौती के राशन वितरण शुरू किया



  

कांडी से वरुण शर्मा

कांडी: हमेशा ही अनियमितता के लिए सुर्खियों में रहनेवाले कांडी प्रखंड के पीडीएस सिस्टम में ग्राम पंचायत लमारी कला के डीलर लालेश्वर प्रसाद सिंह द्वारा एक नई शुरुआत किया गया है , जिससे आनेवाले दिनों में कांडी के पीडीएस सिस्टम में बदलाव देखने को मिल सकता है। ग्राम पंचायत लमारी कला के डीलर लालेश्वर प्रसाद सिंह द्वारा प्रखंड में पहली बार पीडीएस लाभुकों को बिना कटौती के राशन का वितरण शुरू किया गया।मुखिया प्रतिनिधि संतोष सिंह के अनुसार पंचायत के मुखिया गीता देवी की उपस्थिति में लाभुकों को अप्रैल माह का राशन बिना कटौती किये मशीन पर तौलकर दिया गया व सरकार द्वारा निर्धारित राशि ही लाभुकों से लिया गया। मुखिया प्रतिनिधि ने बताया कि लाभुकों को सरकारी दर पर बिना कटौती का राशन देने का प्रस्ताव पंचायत की बैठक में कुछ दिन पहले पारित किया गया था , उसी प्रस्ताव के आलोक में वितरण प्रारंभ किया गया।उन्होंने बताया कि वितरण प्रारंभ होते ही लाभुकों में खुशी देखी जा रही है।उन्होंने बताया कि पूरे पंचायत में इसी प्रकार की व्यवस्था लागु करवाया जायेगा , ताकि पीडीएस लाभुकों को उनका वास्तविक हक मिल सके। मुखिया प्रतिनिधि ने बताया कि लमारी कला पंचायत के लाभुकों को उनका वास्तविक लाभ दिलाकर ही दम लुंगा,साथ ही बहुत जल्द इसी प्रकार की सिस्टम पूरे प्रखंड में भी लागू होगा।

नई शुरुआत से पीडीएस लाभुकों में जगी नई उम्मीद
यह बात सर्वविदित है कि कांडी प्रखंड के पीडीएस लाभुकों को उनका वास्तविक हक कभी भी सही तरिके से नहीं मिलता है, जिसके चलते आये दिन प्रखंड में पीडीएस की अनियमितता सुर्खियों में रहती है । डिलरों द्वारा राशन की कटौती कर लाभुकों को राशन दिया जाता है। विभिन्न स्रोतों से प्राप्त आकड़ो के अनुसार प्रखंड में लाभुकों को 10 किलोग्राम में 9 किलोग्राम , 15 किलोग्राम में 14 , किलोग्राम , 20 किलोग्राम में 17 किलोग्राम , 25 किलोग्राम में 22 किलोग्राम , 30 किलोग्राम में 27 किलोग्राम , 35 किलोग्राम में 32 किलोग्राम , 40 किलोग्राम में 36 किलोग्राम , 45 किलोग्राम में 40 किलोग्राम , 50 किलोग्राम में 45 किलोग्राम , 55 किलोग्राम में 50 किलोग्राम , 60 किलोग्राम में 55 किलोग्राम , 65 किलोग्राम में 58 किलोग्राम तथा 70 किलोग्राम में 62 किलोग्राम राशन ही लाभुकों को मिलता है । बाकी राशन की कालाबजारी कर दिया जाता है। इस प्रकार की शिकायत हमेशा ही लाभुकों द्वारा पदाधिकारियों से भी किया जाता है, लेकिन डिलरों द्वारा लाभुकों को दिये जानेवाले राशन की कटौती बन्द नहीं होती है। लंबें अंतराल के बाद निलंबन मुक्त हुए लमारी कला के डीलर लालेश्वर प्रसाद सिंह द्वारा पीडीएस लाभुकों को उनकी वास्तविक लाभ देने की शुरुआत किये जाने से अन्य पंचायतों व गांवों के लाभुक भी अपना वास्तविक हक मांगना शुरू करेंगे और वह दिन दूर नहीं जब प्रखंड में लाभुकों के लिए एक नई शुरुआत हो सकती है।


 

 

(पलामू प्रमंडल की ख़बरों के लिए बंशीधर न्यूज़ मोबाइल ऐप डाउनलोड करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

शेयर करें